Home Blood Pressure Monitoring घर पर ब्लड प्रेशर चेक करे

आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे कि घर पर कैसे ब्लड प्रेशर चेक करें।  Home Blood Presure Monitring  द्वारा घर पर ही सटीक तरीके से ब्लड प्रेशर चेक कर सकते हैं इससे यह फायदा होता है ,कि आपका डॉक्टर आप की Report देककर आप को आपको सही सलाह और सही मेडिसिन दे सके घर पर ब्लड प्रेशर चेक करने के लिए आपको इन बातों का ध्यान रखना पड़ेगा ।these things have to be taken care of home ,

Home Blood Presure Monitring

bp mashin ,blood pressure monitring

* जब भी आप ब्लड प्रेशर चेक उसके आधे घंटे पहले आपको चाय या कॉफी नहीं पीना है।

* अगर आप धूम्रपान करते हैं तो आपको बीपी चेक करने के आधे घंटे पहले से धूम्रपान नहीं करना है।

* ब्लड प्रेशर चेक करने से पहले 5 मिनट आराम से बैठे हैं।

अब जानेंगे मशीन को किस प्रकार सेट करें|

और पढ़े >किस उम्र में कितना होना चाहिए Bp

मशीन के कफ[ पट्टे ]को मशीन के कनेक्टर होल में लगाना होता है अब  कफ को हाथ में बांधे और कफ बांधते समय ध्यान रहे की कफ कोहनी से  2/ 3 सेंटीमीटर दूरी रखें।

और जाने  उच्च रक्तचाप वाले मरीज की डाइट

जॉइंट के पास से वायर को आगे की ओर रखें सीधे बैठे हैं जब उपकरण बीपी चेक कर रहा हो तब बोले नहीं और मिले भी नहीं और बीपी चेक करने के लिए यह एम बटन दबाएं जैसे ही बटन दब आएंगे कब खुलने लगेगा हाथ को इलाज नहीं धीरे-धीरे कब खुलने लगेगा फिर धीरे-धीरे दबाव कम होने लगेगा कब का फिर परिणाम आपको स्क्रीन पर दिखने लगेगा सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर डायस्टोलिक ब्लड प्रेशर सबसे नीचे पल्स रेट भी दिखेगी कफ को निकाल दीजिए कफ निकालने के 1 मिनट बाद उपकरण या मशीन अपने आप बंद हो जाएगी अब रीडिंग को अपने मोबाइल में या कंट्रोल सीट में या लॉन्ग सीट में नोट करें यह प्रोसेस जब भी आप ब्लड प्रेशर और पढ़े गर्भावस्था के कारण ब्लड प्रेशर क्यों बढ़ जाता है चेक करें तब करें और जब भी आप आपके डॉक्टर से मिलने जाए कम से कम 7 दिनों का डाटा जरूर लेकर जाएं  या डॉक्टर द्वारा बताए गए दिनों तक का डाटा लेकर जाए डॉक्टर चेक करेगा आपका डाटा और आपको सही और योग्य सलाह देंगे अब मशीन में आपका पुराना डाटा जो स्टोर है उसको देखने के लिए M बटन को दबाएं इस मशीन में 30 रीडिंग स्टोर करने की क्षमता रहती है अब अगर मशीन में पेड़ साइन दिखे तो डॉक्टर को सूचित करें मशीन पर बनी पट्टियां आपको ब्लड प्रेशर का लेवल बताती है जिसे ग्रीन लाइन normal ब्लड प्रेशर को दर्शाती है yellow मतलब थोड़ा बड़ा हुआ ऑरेंज पट्टी और ज्यादा बढ़ा हुआ और रेट पट्टी ब्लड प्रेशर बहुत ज्यादा है या दर्शाती है अगर रेड पट्टी पर आता है तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए

अब जानेंगे मशीन में अगर  एरर कोड दिखे तो मशीन के साथ दिए गए यूज़र मैप को पड़े अच्छे से समझे उसमें आपको समझ आ जाएगा किस कारण से एरर  कोड दिखा रहा हे /

  • रिकॉर्ड ब्लड प्रेशर को नोट करें लॉन्ग  सीट में अब लॉन्ग  सीट में सही तारीख और समय  और नाम डाले पूरी जानकारी लिखें वैसे अगर आपने टेबलेट ली है तो लॉन्ग सीट में मेडिसिन पर yes करें अगर एक्सरसाइज किए तो yes  करें अगर नहीं कि वह तो no likhe लॉन्ग सीट में सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर को डॉट से दर्शाएंगे और डायस्टोलिक को शून्य  से और हार्ट रेट को एक्स  x  से  दर्शआएंगे और जब भी आप आपके डॉक्टर से मिलने जाए यह लॉन्ग सीट साथ लेके जाए ताकि डॉक्टर आपके बीपी का डाटा अच्छे से देखें समझे और आपको सही मेडिसिन दें।

 

Leave a Reply