Gint milk weed benifit अर्क के फायदे

आज की पोस्ट में हम बात करेंगे अर्क जाइन्ट मिल्क विड के औषधीय गुण के फायदे या उसके फूल ,पत्ते से क्या-क्या फायदे होते हैं और हम किस प्रकार से किस किस रोगों का निवारण अर्क से कर सकते हैं तो आइए जानते विस्तारपूर्वक आज के इस पोस्ट में…।।

सिर दर्द आंखलिया(अर्क) के पीले पत्तों का रस निकल ले और उसको नाक में डाल ले या सुंघने से आधासीसी का सिर दर्द बंद हो जाता है,( किंतु या बहुत तीक्ष्ण होता है अतः सावधानी से प्रयोग करें)।

नेत्र रोग में : अर्क की थोड़ी सी जड़ को 20ml गुलाब में 5 मिनट रखकर उसका पानी छान लें और वह पानी आंखों में डालें दो-तीन बूंद इससे आंख का लालपन भारीपन और खुजली दोनों खत्म होता है।

मुख रोग में अर्क के फायदे

दाढ़ दर्द में : आंखलिया के दूध में रुई को भिगोकर ओर उसमे थोड़ा घी भी डाल ले इसको दाढ़ में रखने से दाड़ का दर्द बंद हो जाता है।

दाँत में दर्द अर्क के दूध में नमक मिलाकर दांत पर लगाने से दातों का दर्द चला जाता है।

अर्क की उंगली जीतनी मोटी जड़ को शकरकंद की तरह अच्छे से भून लें उसके बाद जड़ से दातुन करे इससे दंत रोग में आराम मिलता है।

अर्क के आठ 10 पदों को 10 ग्राम कालीमिर्च के साथ पीस लें और उसमें थोड़ी सी हल्दी व सोंधा नमक मिलाकर मंजन करने से दांत मजबूत हो जाते हैं।

वक्ष रोग में अर्क से उपचार रोग

श्वास खांसी रोग में : 50 ग्राम अर्क के पुष्प की लोंग ले और उसमें 6 ग्राम मिर्च मिला ले और दोनों को अच्छे से महीने एक दम बारीक पीस लें और 250 मिलीग्राम की गोलियां बना लें ओर इन गोली को प्रातः एक या दो गोली गर्म पानी के साथ सेवन करने से सांस फूलना बंद हो जाता है।

अर्क के पत्तों पर जो सफेद क्षार सा छाया रहता है उसे निकाल कर रख लें, 500 मिलीग्राम तक क्षार में गुड़ लपेटकर गोली बनाकर खाने से खांसी सांस फूलना आदि रोगों में बहुत लाभ मिलता है।

अर्क की जड़ की छाल को सुखा कर पीस लें और उसको 125 मिलीग्राम मात्रा में जल के साथ सेवन करने से लैट्रिन के रास्ते खून आना बंद हो जाता है।

खून की कमी दूर करे

Leave a Reply